Monday, February 6, 2023
spot_img

हाईवे से कार समेत गायब हुए तहसीलदार, पत्नी व चार की लाश सड़क किनारे कुएं में मिली


कांकेर। हाईवे से कार समेत गायब हुए ओड़िशा के नायब तहसीलदार व पत्नी समेत चार लोगों पता चल गया है। पुलिस को उनकी लाश सड़क किनारे स्थित एक कुंए से कार समेत मिली है। मामले में लूट और अन्य संदेह की जताई जा रही है संभावना मौके की स्थिति के हिसाब से घटना बताई जा रही है।
          बता दें कि सभी शनिवार रात शादी समारोह में शामिल होकर वापस ओड़िशा लौट रहे थे। रास्तें में ही उनकी कार के अचानक गायब होने के बाद इनका पता नहीं चल पा रहा था। सोमवार सुबह नेशनल हाईवे 30 से लापता हुई उनकी कार सड़क किनारे कुएं में गिरी मिली। पुलिस ने कार बाहर निकलवाई तो उसमें चारों के शव मिले हैं। पुलिस ने शवों को पीएम के लिए अस्पताल भेजकर अन्य कार्रवाई में जुट गई है। पुलिस ने बताया कि लापता कार की हाईवे पर तलाश की जा रही थी। जंगलवार कॉलेज के पास एक कुआं है। काफी पुराना होने के कारण इस्तेमाल में नहीं आता है और ऊपर से झाड़ियां उग आई हैं। पुलिस सीसीटीवी फुटेज खंगालते हुए जब कुएं के पास पहुंची तो संदेह हुआ। इसके बाद झाड़ियां हटाकर देखा गया तो अंदर कार गिरी हुई थी। पुलिस ने जेसीबी और क्रेन के माध्यम से कार को बाहर निकाला तो सभी के शव मिले।
विवाह में शामिल होने 6 दिसंबर को आए थे
जानकारी के अनुसार ओडिशा के उमरकोट निवासी नायब तहसीलदार सपन सरकार (65) पत्नी रीता सरकार (50) की बड़ी बहन रीना दत्ता के पुत्र की शादी में शामिल होने 6 दिसंबर को कांकेर के गोविंदपुर आए थे। 10 दिसंबर को गोविंदपुर में हुए रिसेप्शन में भी शामिल हुए। शादी में सपन के साले कोंडगांव निवासी विश्वजीत अधिकारी (42) और एक परिचित हजारी लाल ढाली (67) भी आए थे।
रात में शादी में शामिल होकर निकले, पर घर नहीं पहुंचे
पार्टी के बाद नायब तहसीलदार सहित चारों शनिवार रात करीब 10.30 बजे कार से कोंडगांव के लिए रवाना हुए। उनके जाने से पहले और बाद में भी कुछ वाहन कोंडागांव के लिए निकले थे। जब रात करीब 12 बजे तक भी वे घर नहीं पहुंचे तो परिजनों को चिंता हुई। उन्होंने रीना दत्ता के मोबाइल पर कॉल किया, पर शादी में व्यस्त होने के कारण वे कॉल रिसीव नहीं कर पाईं। इस पर परिजनों को लगा कि वे कांकेर में ही रुक गए होंगे। 
सुबह लापता होने का चला पता
दूसरे दिन सुबह जब रीना दत्ता ने मिस कॉल देखा तो उन्होंने बात की। इस पर चारों के लापता होने का पता चला। इसकी जानकारी मिलने पर नायब तहसीलदार सपन सरकार के बेटे नवजीत उनकी तलाश में निकले। रास्ते भर कार और लापता लोगों की तलाश की, पर कुछ पता नहीं चला। बाद उन्होंने पुलिस में गुमशुदगी दर्ज कराई। चारों का मोबाइल रात 11 बजे से बंद है। मोबाइल जंगलवार कालेज के निकट टावर से बंद बता रहा था। 
डॉक्टरों की टीम ने किया पीएम, वीडियोग्राफी हुई
पुलिस ने बताया कि जहां पर हादसा हुआ है, वह एक सरकारी कुआं हैं। सड़क से करीब पांच मीटर की दूरी पर है। ऐसे में संभावना है कि चालक नींद या फिर सामने से कोई लाइट पड़ने के कारण अनियंत्रित हुआ होगा। हालांकि शवों का पीएम डॉक्टरों की दो सदस्यीय टीम से कराया गया, जिसकी वीडियोग्राफी की गई। पीएम रिपोर्ट के आधार पर मामले की जांच शुरू की जाएगी। 

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

0FansLike
3,702FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img

Latest Articles