Thursday, December 1, 2022
spot_img

आयुर्वेद औषधालयों में दवाइयां की किल्लत, वापस लौट रहे मरीज

महासमुंद। जिले के लगभग सभी आयुर्वेद औषधालयों में बीते एक माह से दवाइयों की कमी चल रही है। जिससे मरीजों को आधी-अधूरी दवाइयां लेकर वापस लौटना पड़ रहा है। दवा मरीजों को नहीं मिलने से उन्हें बाहर से खरीदनी पड़ रही है।
इधर, आयुर्वेद विभाग के अफसरों का कहना है कि दवाईयों की मांग के बाद सप्लाई न होने से यह समस्या निर्मित हुई थी जो जल्द ही दूर कर ली जाएगी। बता दें कि जिले में 36 औषधालय और एक पाली क्लीनिक के साथ एक आयुष विंग अस्पताल संचालित है जहां करीब पिछले एक माह से दवाईयों की कमी चल रही है जिससे मरीजों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। कुछ मरीजों ने नाम न छापने की शर्त पर बताया कि अस्पताल में दवा न मिलने से बाहर से खरीदनी पड़ी है। जानकारी के मुताबिक उपरोक्त दवाएं पिछले माह से उपलब्ध नहीं हैं।
*जानिए किन दवाईयों की है कमी*
जानकारी के अनुसार आयुर्वेद अस्पतालों में योगराज गुग्गुल, महानारायणा तेल, सिंहवार गुग्गुल, शतावरी चूर्ण, अश्वगंधा चूर्ण, हिंग्वाष्टक चूर्ण, लवण भास्कर चूर्ण अश्वगंधारिष्ट और अर्जुनारिष्ट और अर्जुन चूर्ण आदि उपलब्ध नहीं है। सूत्रों के अुनसार यह ऐसी दवाईयां है जो प्रत्येक 10 में से 5-7 मरीजों को दी जाती है पर अस्पताल में उपलब्ध नहीं होने से उन्हें यह दवाएं बाहर से खरीदनी पड़ रही है।
*हो गई है दवा की सप्लाई, जल्द अस्पतालों में होगा वितरण*
जिला आयुर्वेद अधिकारी विजय साहू ने बताया कि दवाईयों की सप्लाई के लिए मांग पत्र भेजा गया था जिसकी समय पर सप्लाई न होने से यह समस्या निर्मित हुई होगी। फिलहाल सप्लाई हो गई है और औषधालयोंं में यह जल्द उपलब्ध करा दी जाएंगी। उन्होंने कहा कि वे स्वास्थ्यगत कारणों से ज्यादा कुछ नहीं बता पाएंगे।  

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

0FansLike
3,590FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img

Latest Articles