16.2 C
New York

70945 ऋणी किसानों में से 67829 ने कराया फसलों का बीमा, अऋणी मात्र 615 किसानों ने कराया बीमा

Published:

महासमुुद। जिले मेे खरीफ फसल के लिए 70945 किसानों ने ऋण लिया है लेकिन इसमें केवल 67829 किसानों ने ही अपनी फसलों का बीमा कराया है जबकि साढ़े 3 हजार ऐसे किसान हैं जिन्होने अभी तक फसलों का बीमा कराया ही नहीं है।
फसलों का बीमा कराने वाले में सर्वाधिक संख्या कोमाखान शाखा के किसानों की है जहां 10666 किसानों ने बीमा कराया है वहीं सबसे कम तुमगांव शाखा में मात्र 1983 किसानों ने अपनी फसलों का बीमा कराया है। इधर, शासन ने फसल बीमा की तिथि को 15 से आगामी 31 जुलाई तक बढ़ा दी है जिससे बीमा नहीं करा पाने वाले किसाानों को बीमा कराने के लिए फिर से मौका मिला है। हालांकि बीमा कराने के लिए उनके पास केवल 10 दिन का ही समय शेष है। इधर, मानसून के बाद जिस तरह से बारिश हो रही है उससे कई किसानों को इस बार भी फसल क्षति होने और नहीं होने की संभावना दिखाई दे रही है।
जिले में शाखावार बीमा कराने वाले किसानों की संख्या
जिला सहकारी बैंक से मिली जानकारी के मुताबिक महासमुंद शाखा से 3206, झलप में 3225, बागबाहरा में 5134, तेन्दूकोना में 5188, पिथौरा में 4811, सांकरा 3361, पिरदा में 3085, बसना में 7059, भंवरपुर 6575, सरायपाली में 7221 और तोरेसिंहा में 5700 किसानों ने इस खरीफ वर्ष में अपनी फसलों का बीमा कराया है। अऋणी किसानों की बात करें तो तुमगांव में 10, बागबाहरा में 7, तेन्दूकोना में 100, पिरदा में 216, बसना में 204, भंवरपुर में 8, सरायपाली में 7 और तोरेसिंहा से 63 किसानों ने बीमा कराया है।
98 हजार हेक्टेयर फसल की बीमा
जिले में किसानों द्वारा खरीफी सीजन में लगाई फसलों में कुल 97942.10 हेक्टेयर की फसलों का कुल 43763.87 हजार रुपए का बीमा किसानों द्वारा कराया गया है जिसके लिए किसानों ने बीमा कंपनी को 877.63 हजार रुपए प्रीमियम जमा किया है।

Related articles

spot_img

Recent articles

spot_img