13.7 C
New York

सड़क पर बैठे मवेशियों को बचाने, बाइक चालक ने गंवाई जान हादसे का शिकार हो रहे हैं राहगीर

Published:

महासमुंद। लावारिश मवेशियों को गौठान में नहीं रखे जाने और भारी वाहन चालकों द्वारा यातायात नियमों का पालन नहीं करने से राहगीर हादसे का शिकार हो रहे हैं। कुछ लोगों को इससे जान भी गंवानी पड़ रही है। गुरुवार को बाइक सवार दो लोग घायल हो गए जिनमें एक की मौत हो गई वहीं दूसरा गंभीर रुप से घायल हो गया। जानकारी के अनुसार रायपुर गुढिय़ारी निवासी विकास लाहा मित्र गोविंद पठारी के साथ तेन्दूकोना थाना क्षेत्र के ग्राम सेवाती में आयोजित रिश्तेदार के यहां दशगात्र कार्यक्रम में शामिल होने के लिए बाइक क्रमांक सीजी 04 एनएफ 0604 में शामिल होने के लिए आया था जो देर शाम वापस रायपुर लौट रहा था। रात करीब साढ़े 8 बजे ग्राम पचेड़ा के पास महासमुंद की ओर से आ रहे अज्ञात वाहन द्वारा अपर-डिपर नहीं देने और सड़क की मवेशियों को बचाने के चक्कर में उनकी बाइक अनियंत्रित होकर गिर गई जिससे दोनों घायल हो गए। डायल 112 की मदद से उन्हें जिला अस्पताल ले जाया गया जहां चिकित्सकों ने विकास को मृत घोषित कर दिया। खल्लारी पुलिस ने मामले में अज्ञात वाहन चालक के खिलाफ धारा 304 ए के तहत जुर्म दर्ज कर जांच में लिया है। शहर में कभी भी हो सकता है हादसा यहां शहर की सड़कों पर भी बैठे लावारिश मवेशी राहगीरों के लिए कभी भी हादसे और मौत की वजह बन सकते हैं। खासकर गौरव पथ में हादसे की आशंका है। क्योंकि बरोंडा चौक से कलेक्टोरेट कॉलोनी तक सड़क में जगह-जगह पर मवेशी बैठे रहते हैं जिससे राहगीरों को आवागमन में परेशानी का सामना करना पड़ता है। शहर की सड़कों पर मवेशियों की बढ़ती संख्या के बाद भी पालिका और प्रशासन इस ओर ध्यान नहीं दे रहा है। नागरिकों का कहना है कि प्रशासन को कार्रवाई के लिए बड़े हादसे की प्रतीक्षा है।

Related articles

spot_img

Recent articles

spot_img