16.9 C
New York

सरकारी अफसर बता की शादी, फिर किया यह कांड , शिकायत हुई तो चढ़े पुलिस के हत्थे, कहानी सुनकर हो जाएंगे हैरान

Published:


महासमुंद। पहले सरकारी अफसर बताकर शादी की फिर डीएसपी के पद पर नियुक्त होने पर ट्रेनिंग के लिए बाहर जाने ससुराल से लाखों रुपए मांगकर धोखाधड़ी करने वाले शातिर पिता-पुत्र को पुलिस ने गिरफ्तार कर न्यायायिक हिरासत में जेल भेज दिया है। पुलिस को पीड़िता सरायपाली जोगीडीपा निवासी योगिता साव द्वारा 10 अगस्त 2022 की गई शिकायत अनुसार उनका विवाह जोगीडीपा थाना सरायपाली निवासी
भारत साव पिता घासिराम से 28 जून 2021 में सामाजिक रिती रिवाज से शादी हुआ था। पति भारत साव एवं ससूर घांसीराम ने झूठी सरकारी नौकरी अकाउंट आफिसर जिला सहकारी बैंक अभनपुर मे पदस्थ होने की जानकारी देकर धोखाधडी कर विवाह करने एवं उक्त नौकरी से हटा देने का हवाला देकर पुलिस विभाग मे डीएसपी पद पर चयन हो जाने के संबंध में पूर्ण विश्वास दिलाने के लिए अपना फर्जी नियुक्ति पत्र जिसमें उसे 65,500/- रूपये के पद पर 35 वर्षों के लिए नियुक्त किया गया है जिसमें उसने महासमुंद कलेक्टर, मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत महासमुंद, अनुविभागीय अधिकारी महासमुंद का फर्जी कूटरचित हस्ताक्षर एवं सील मुहर लगा हुआ फोटो एवं कूटरचित डिप्टी सुपरिटेंडेंट ऑफ पुलिस का अपना लगा हुआ फोटो एवं भारत सरकार का कार्मिक एवं प्रशिक्षण विभाग का फर्जी आई डी कार्ड भेजकर प्रार्थीया को पूर्ण विश्वास में ले लिया कि वास्तविक में उसकी नियुक्ति उक्त पद पर हो गई है। पुलिस विभाग मे डीएसपी के पद पर चयन हो जाने एवं ट्रेनिंग किए जाने का कूटरचित दस्तावेज दिखाकर उनके पिता एवं भाई से 10,60,000 रुपए धोखाधड़ी कर ले जाने का आरोप लगाया था। जिस पर दोनों पिता-पुत्र के खिलाफ़ थाना बसना में धारा 420, 467, 468, 506, 34 के तहत जुर्म दर्ज कर जांच में लिया था। जांच के दौरान आरोपियो का पता तलाश कर हिरासत मे लेकर पूछताछ करने पर आरोपियो द्वारा जुर्म करना स्वीकार करने पर 11 अगस्त 2022 को गिरप्तार कर जेल भेज दिया। सम्पूर्ण कार्रवाई एसपी भोजराम पटेल के मार्गदर्शन में एएसपी आकाश राव एवं एसडीओपी सरायपाली विकास पाटले के निर्देशन में थाना प्रभारी कुमारी चन्द्राकर, उनि जितेन्द्र कुमार विजयवार, आर. कौशल ध्रुव, मोहित काटले व स्टाफ द्वारा की गई।

Related articles

spot_img

Recent articles

spot_img