16.2 C
New York

यंहा पालिका को अपने ही बंद पंप हाऊस में बोरियों में मिली भारी मात्रा में शराब, जानिए क्या है मामला और क्या है शराब की हकीकत

Published:


पालिका का स्वच्छता अभियान दूसरे दिन भी रहा जारी

महासमुंद। नपाध्यक्ष द्वारा शरू की गई शहर में स्वच्छता, व्यवस्था और सुरक्षा अभियान कार्रवाई के निकली पालिका, पुलिस और प्रशासनिक टीम को सब्जी बाजार स्थित पालिका के सालों से बंद पड़े पंप हाऊस में शराब की अवैध बिक्री के लिए रखा हुआ जखीरा मिला। शराब जब्त कर पुलिस को कार्रवाई के लिए सौंप दी गई है।
पालिका के अभियान के दौरान भारी मात्रा में पंप हाउस में मिली शराब ने जिले में शराब की अवैध बिक्री के छोटे-छोटे और नए-नए कोचियों को पकड़कर कार्रवाई के नाम पर खानापूर्ति कर सरकार व अपने अफसरों में अपनी और अपने कार्य की बेहतर छवि बनाने वाले आबकारी विभाग और पुलिस अफसरों की कार्रवाई की पोल खोल दी है। गांव जाकर शराब पकड़ने वाली पुलिस और आबकारी अफसर कितने मुस्तैद है। सब्जी बाजार के सालों से बंद पड़े पंप हाउस में पालिका ने सब्जी के एक कैरेट में 45 पौव्वा देशी प्लेन शराब के साथ करीब चार बोरियों में शराब की बोतलें मिली। इसमें कुछ बोरियों में खाली शीशियां भी थी। कार्रवाई के दौरान कुछ लोगों ने दबी जुबान में कहा कि लंबे समय से यहां शराब न सिर्फ रखी जा रही बल्कि बेची भी जा रही है। लोगों ने बताया कि शराब शहर के एक पार्टी के नेता की है। अब यह जांच का विषय है कि यह शराब आखिर किस नेता है कि और किसने इसे यंहा डंप कर रखा था इसके साथ यह भी जांच का विषय है कि जब पंप हाउस सालों से बंद है तो पूर्व में इसे जमीदोज क्यों नहीं कि गई, और इसमें जब अनाधिकृत रूप से पालिका की बजाए किसी ने कब्जा कर रखा था तो पालिका प्रबंधन क्या कर रहा था। यहां पंप हाऊस से शराब की अवैध बिक्री के लिए बोरियों में भंडारण किया गया था। टीम जब पंप हाऊस पहुंची तो कर्मियों ने बताया कि यह बंद हो चुका है। टीम ने ताला तुड़वाया तो अंदर बोरियों में शराब की बोतलें और खाली बोतलें पाई गई। इस मामले थाना प्रभारी सिधेश्वर प्रताप सिंह का कहना है कि 45 पौव्वा देशी प्लेन शराब मिली है। रही बात बोरियों की तो खाली शीशियां होने की बात सामने आ रही है। मामले में अज्ञात के खिलाफ आबकारी एक्ट के तहत जुर्म दर्ज किया जाएगा।

Related articles

spot_img

Recent articles

spot_img