12.5 C
New York

मानस गान के आयोजन से होता है सात्विक विचारों का प्रसार : अग्नि

Published:

  • लखनपुर में रामायण समारोह में शामिल हुए बीज निगम अध्यक्ष

महासमुंद। “रामायण समारोह या मानस गान कार्यक्रम का आयोजन हमारे गांवों की समृद्ध सांस्कृतिक परंपरा का हिस्सा है। मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान राम भारतीय समाज के आदर्श हैं और रामचरित मानस का गान सद्चरित्रवान समाज के निर्माण में सहायक होता है। मानस गान के आयोजन से अच्छा वातावरण का निर्माण और सात्विक विचारों का प्रसार होता है।”
उक्त उद्गार छग राज्य बीज एवं कृषि विकास निगम के अध्यक्ष केबिनेट मंत्री दर्जा प्राप्त अग्नि चंद्राकर ने ग्राम लखनपुर में एक दिवसीय रामायण समारोह में मुख्य अतिथि की आसंदी से व्यक्त किए। उन्होंने प्रतिवर्ष रामायण समारोह के आयोजन के लिए लखनपुरवासियों की सराहना की। अपने संक्षिप्त उद्बोधन के बाद उन्होंने श्रोता के रूप में मानस मंडलियों की सुमधुर संगीतमय मानस गान प्रस्तुति का आनंद लिया। नपाध्यक्ष राशि त्रिभुवन महिलांग ने भी अपने विचार रखे। इस अवसर पर युवा नेता दिव्येश चंद्राकर, प्रतिनिधि नारायण नामदेव, धर्मेंद्र महोबिया, मदन भारती, पार्षद विजय बांदे, पूर्व पार्षद शिव यादव, लता कैलाश चंद्राकर, पूर्व पार्षद तुलसीराम साहू, नरेंद्र चंद्राकर, जनार्दन चंद्राकर, थलेश चंद्राकर, मनबोध ध्रुव, सोनू राज, हेमसागर पटेल, नरेंद्र कौशिक, कृष्ण कुमार पटेल, सरपंच पतिराम बघेल, पंचू निर्मलकर, प्रकाश हिरवानी, हेमलाल बंजारे, लमकेश्वर साहू, ध्रुव कुमार ध्रुव, शिव नेताम, कमल कौशिक, सागर साहू, सलीम कुरैशी, डिगेश्वर साहू, लोकेश ध्रुव, जगदीश ध्रुव, चुन्नी पटेल, बीरसिंग निषाद, लोकेश तारक, चोवा ध्रुव, मुरली साहू आदि मौजूद थे।

Related articles

spot_img

Recent articles

spot_img