महासमुंद। खैरझिटी,कौंवाझर,मालीडीह के कृषि भूमि,वन भूमि,गरीबों का काबिल कास्त भूमि,आदिवासी भूमि में गैर कानूनी ढंग से करणी कृपा स्टील एवं पावर प्लांट लगाने के विरोध में विगत 25 फरवरी से किसानों द्वारा छत्तीसगढ़ संयुक्त किसान मोर्चा के बैनर तले अखण्ड धरना सत्याग्रह चल जारी है। सत्याग्रह के 107 वें दिन लगभग 75 किसान, जवान एवं महिलाओं सत्याग्रह सभा को संबोधित किया। किसान नेता अशवन्त तुषार साहू कहा कि इस क्षेत्र के जल,जंगल ,जमीन,जन जीवन को औद्योगिक प्रदूषण से बचाने के लिए गांव-गांव और जन-जन में करणी कृपा स्टील एवं पावर प्लांट के गैर कानूनी ढंग से निर्माण कार्य को बंद कराने के लिए प्रचार प्रसार किया जा रहा है।वहीं दूसरी ओर तहसीलदार, एसडीएम और जिलाधीश महासमुंद द्वारा क्षेत्र के किसानों की आवाज को अनसुनी करने तथा करणी कृपा स्टील एवं पावर प्लांट के व्यक्तिगत की तरह कार्य करने के विरुद्ध मुख्य सचिव,मुख्यमंत्री से हस्तक्षेप करने के लिए मांग पत्र दिया गया है। हम लोग सड़क की लड़ाई के साथ ही साथ न्यायालयों का भी दरवाजा खटखटा रहे हैं, ताकि गैर कानूनी ढंग से उद्योग लगने न पाए। लोगों की असली लड़ाई तुमगांव क्षेत्र की हरियाली और खुशहाली की सुरक्षा करने के लिए है। हमारा लड़ाई तुमगांव से लेकर विश्व धरोहर सिरपुर,तुमगांव से लेकर खल्लारी माता मन्दिर जिला मुख्यालय महासमुंद को औद्योगिक प्रदूषण के जहरीली धूल, धुंआ से निजात दिलाने, शुद्ध हवा पानी की सुरक्षा के लिए लड़ाई है।इससे लाखों लोगों की रोजी रोटी की जरिया कृषि बचे और खुशहाली सुरक्षित रहेगी। यह काम शासन प्रशासन की है लेकिन वे लोग अपना फर्ज भूलकर दलाली गिरी में अंधा हो गए हैं। जिला प्रशासन की दमनकारी नीति के खिलाफ नारी शक्ति भी संगठित होकर संघर्ष करने लगी है।जीत हम किसानों की ही होगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here