16.2 C
New York

पिछले वर्ष की तुलना में 64 मिमी अधिक वर्षा

Published:

महासमुंद। पिछले वर्ष की तुलना में इस वर्ष अधिक वर्षा हुई है लेकिन पिछले सप्ताहभर से जिले में बारिश थमी हुई है जिसके चलते तापमान में हुई वृद्धि से उमस बढ़ गई है। इधर, लंबे अंतराल से बारिश न होने से किसानों को भी फसलों को लेकर चिंता सताने लगी है। 

     जानकारी के अनुसार जिले में 31 जुलाई की स्थिति में कुल 564. 5 मिमी बारिश हो चुकी है। इसमें सर्वाधिक वर्षा महासमुंद तहसील में कुल 792 जबकि सबसे कम बागबाहरा में 396 मिमी हुई है। सर्वाधिक वर्षा के दूसरे क्रम पर बसना है जहां 621. 3, तीसरे क्रम में पिथौरा 549.9 और पांचवें क्रम पर सरायपाली 463 मिमी बारिश हुई है। शनिवार को जिले मेंं सिर्फ बसना को छोड़कर किसी भी तहसील में बारिश नहीं हुई है। पिछले एक सप्ताह से भी अधिक समय से बारिश न होने से तापमान में वृद्धि हो रही है। मौसम विभाग के अनुसार जिले का तापमान 33.6 डिग्री पर पहुंच गया है जिसके चलते उमस बढ़ गई है। इधर, अच्छी बारिश के बाद जिले में रोपाई जारी है। किसानों का कहना है कि रोपाई के बाद अब फिर से बारिश की आवश्यकता है। बारिश न होने की स्थिति में उन्हें दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है।    

पिछले और इस वर्ष की बारिश की स्थिति

पिछले और इस वर्ष 30 जुलाई तक हुई बारिश की स्थिति की बात करें तो जिले में अब तक 564.5 मिमी बारिश हुई है। वहीं पिछले वर्ष आज की स्थिति में कुल 500.6 मिमी बारिश हुई थी जो इस वर्ष की तुलना में कम है। हालांकि बारिश के मामले में बागबाहरा तहसील जिले में 600.7 मिमी के साथ प्रथम क्रम पर था जबकि महासमुंद 532 मिमी के साथ दूसरे क्रम पर था। सबसे कम वर्षा 361. 3 मिमी बारिश पिथौरा तहसील में हुई थी । इसके अलावा बसना में 519, सरायपाली में 489.6 मिमी बारिश हुई थी। 

तापमान वृद्धि में प्रदेश में सातवंा जिला

तापमान वृद्धि के मामले में महासमुंद प्रदेश में सातवां जिला है। मौसम विभाग के अनुसार 30 जुलाई को यहां का तापमान 33.6 डिग्री रिकार्ड किया गया था जो सर्वाधिक तापमान वाले जिले में मुंगेली पहले, बलौदाबाजार दूसरे, रायपुर तीसरा, बीजापुर चौथा, दंतेवाड़ा पांचवें और बिलासपुर छठवें स्थान पर है।    

Related articles

spot_img

Recent articles

spot_img