13.1 C
New York

नशा मुक्ति कार्यक्रम में सूबे के शिक्षा मंत्री ने शराब पीने पर दी नसीहत, जाने ऐसा क्या कहा कि हो गई फजीहत

Published:


अंबिकापुर। सूबे के शिक्षा मंत्री ने नशा मुक्ति कार्यक्रम में शराब पीने की बात पर उपस्थित जनसमुदाय को कुछ ऐसी नसीहत दे दी कि उनके इस बयान पर जमकर फजीहत हो रही है।
अंबिकापुर के वाड्रफनगर में बुधवार को नशा मुक्ति अभियान के तहत एक कार्यक्रम आयोजित था। बतौर कार्यक्रम में अतिथि शिक्षा मंत्री डॉ. प्रेम साय सिंह भी पहुंचे थे। नशा मुक्ति पर बात करते हुए उन्होंने शराब पीने के तरीके काफी विस्तार से बता डाले। यह भी कहा कि मधुशाला के लिए आत्मनियंत्रण होना चाहिए। उन्होंने कहा कि शराब का सब कोई उपयोग करते हैं। हम भी कभी-कभी उपयोग करते हैं। चुनाव-सुनाव में उसका उपयोग करते हैं। दारू में अगर पानी मिलाएंगे तो डाइल्यूशन होना चाहिए। कितना डाइल्यूशन हो, जितना हो सकता है, उतना हो। बाद ड्यूरेशन होना चाहिए। ये नहीं कि एक बार में ही गट-गट कर मार दिए। नशा मुक्ति कार्यक्रम में नागरिकों के साथ स्कूल के छात्र-छात्राएं भी मौजूद थे। उनके इस बयान का वीडियो सोशल मीडिया में वायरल होने के बाद उनकी फजीहत हो रही है। कार्यक्रम के बाद जब मंत्री डॉ. सिंह से मीडिया ने अंबिकापुर-वाराणसी रोड की जर्जर हालत का मुद्दा उठाया। पत्रकारों के सवाल पर मंत्री ने कहा कि खराब सड़क के कारण सड़क हादसे कम होते हैं। जब सड़क चकाचक बन जाती है, तो हादसे बढ़ जाते हैं। हालांकि उन्होंने कहा कि जर्जर सड़क को बनवाने के लिए उनके पास मांग की जाती है तो वह देखेंगे।

Related articles

spot_img

Recent articles

spot_img