13.1 C
New York

धान के बीजों की कीमत में इजाफा से खेती हुई महंगी
00 सरकार ने कोदो कुटकी की फसल को बढ़ावा देने इनके दाम घटाए

Published:

महासमुंद। इस बार खरीफ फसल में धान लगाने वाले किसानों को बीज की कीमत में सरकार द्वारा की गई वृद्धि से महंगाई की मार झेलनी पड़ेगी। सरकार ने कोदो, कुटकी को बढ़ावा देने के लिए इनके दाम घटा दिए और धान के बीजों की कीमत बढ़ा दी है।
जानकारी के मुताबिक धान के बीजो की कीमत दो सौ रुपए तक बढ़ाई गई है कोदो, कुटकी और रागी की खेती को बढ़ावा देने के लिए इनके बीजों की कीमत में कम कर दिया है। सरकार ने दाल में अरहर दाल के बीज की कीमत 1150 रुपए कीमत घटाई है। वहींं दूसरी दालों की कीमत में भी इजाफा किया है। तिल के बीज की कीमत सबसे ज्यादा दो हजार रुपए बढ़ी है। जिले के सोसायटियों में पर्याप्त मात्रा में बीज भेजे गए है। किसानों ने बीज लेने भी प्रारंभ कर दिए है। ज्यादा अहर में मानसून के पहले बीज निगम ने है सभी सोसायटियों को बीज भेजकर वहां इसका भंडारण करा दिया है। ताकि किसानों की किसी तरह की परेशानी न हो। प्रदेश में सबसे ज्यादा फसल मोटे धान की ली जाती है। इसकी जितनी भी किस्में हैं उनकी कीमतों में इस बार दो सौ रुपए का इजाफा किया गया है। पिछले साल छोटे धान का बीज 24 सौ रुपए क्विंटल था जिसे इस साल 26 सौ कर दिया गया है। इसमें सरना भी शामिल है। सरना की ही किसान सबसे ज्यादा फसल लगाते हैं। पतले धान के बीजों में सौ रुपए का इजाफा किया गया है। पहले इसकी कीमत 27 सौ रुपए थी, जिसको 28 सौ रुपए किया गया है। सुगंधित धान के बीजों की कीमत भी सौ रुपए बढ़ी है। यह अब 31 सौ रुपए क्विंटल हो गया है। इस संबंध में जिला बीज निगम अधिकारी अशोक वर्मा का कहना है कि धान के बीज में पिछले वर्ष की तुलना में कीमत इस बार बढ़ी है।
जानिए क्या है बीजों की कीमत
राज्य सरकार ने कोदो, कुटकी और रागी की फसलों को प्रोत्साहन देने के लिए इनकी कीमत में कमी की है। पिछले साल इसके बीजों की कीमत 4590 रुपए प्रति क्विंटल थी। इनमें 440 रुपए को कमी करके इसको कीमत इस बार 4150 रुपए कर दी गई है। सबसे ज्यादा कीमत कम अरहर दाल के बीजों की हुई है। इसकी कीमत पिछले साल 9250 रुपए भी इसको इस बार 8100 सौ रुपए कर दिया गया है यानी कीमत में 1150 रुपए की कमी की गई है। उड़द के बीजों की कीमत में 350 रुपए का इजाफा हुआ है। पहले इसकी कीमत 9000 रुपए थी, जिसे सबसे ज्यादा फसल मोटे धान की ली जाती किया गया है। पिछले साल मोटे धान का है। इसकी जितनी भी किस्में हैं, उनकी बीज 24 सौ रुपए क्विटल था जिसे इस कीमतों में इस बार दो सौ रुपए का इजाफा सप्त 26 सौ रुपए कर दिया गया है। इसमें 9350 रुपए कर दिया गया है।
मंूग के बीजों में वृद्धि नहीं

मूंग के बीजों की कीमत पिछले साल 9500 प्रति क्विंटल थी, इसमें इजाफा नहीं किया गया है। सोयाबीन में 750 का इजाफा हुआ है। इसके बीज अब 7250 से बढक़र 8000 रुपए हो गए है। मंूगफली की कीमत 6 सौ रुपए कम कर इसको 7400 रुपए कर दिया है। तिल की कीमत 12 हजार से 14 हजार रुपए कर दी गई है। रामतिल में तीन सौ रुपए का इजाफा किया गया है। पहले इसकी कीमत 8550 थी, जिसको 8850 रुपए कर दिया है।

Related articles

spot_img

Recent articles

spot_img