13.7 C
New York

दो साल से भवन का सिर्फ आश्वासन, नाराज पालकों ने स्कूल में जड़ा ताला
00 विभाग ने आनन-फानन में आंगनबाड़ी में वैकल्पिक व्यवस्था के दिए निर्देश

Published:

महासमुंद। पिछले दो सालों से पालकों द्वारा जर्जर स्कूल भवन की जगह नए भवन बनाने की मांग पूरी नहीं होने से नाराज पालकों ने शुक्रवार को स्कूल में ताला जड़ विरोध जताया। मामला महासमुंद ब्लॉक के ग्राम पंचायत सिघंनगढ प्राथमिक स्कूल का है। इधर, विभाग ने आनन-फानन में स्कूल को आंगनबाड़ी में वैकल्पिक व्यवस्था के तहत संचालित करने के निर्देश के बाद पालक मान गए।
जानकारी के मुताबिक शाला भवन पूरी तरह से जर्जर हो चुका है जिसमें अध्यापन के दौरान बच्चों के साथ हादसे का भय बना हुआ है। इसे देखते हुए पालकों ने बच्चों को उक्त स्कूल भेजने से मना कर दिया है। शुक्रवार सुबह पालकों ने उक्त स्कूल में ताला जड़ दिया। पालक कुलेश्वर पटेल, योगेश यादव ,दुकालू बरिहा, संतोष यादव, परस पटेल ,मायाराम यादव ने बताया कि प्राथमिक शाला का भवन जर्जर हालत में है, ऐसी स्थिति में यहां बच्चों को पढ़ाना खतरा मोल लेना है। उन्होंने बताया कि दो साल से जर्जर भवन की जगह नया भवन बनाने को लेकर विभागीय अधिकारियों सहित कलेक्टर से मांग की गई थी, पर कोई सुनवाई नहीं हो रही है। अभी तक किसी तरह पेड़ की छांव में पढ़ाई हो रही थी पर अब बरसात में यहाँ बच्चों को भेजना खतरनाक हो सकता है। उन्होंने बताया कि इस संबंध में चार माह पूर्व विधायक विनोद चंद्राकर से भी मुलाकात कर जर्जर भवन की जानकारी उन्हें दी गई थी और यहां पर नवीन शाला भवन निर्माण का उन्होंने आश्वासन भी दिया था पर आज तक कुछ नहीं हुआ।
पूर्व में कर चुके हैं तालाबंदी
पालकों ने बताया कि जर्जर शाला भवन को लेकर पिछले सत्र में भी तालाबंदी की गई थी। तब तहसीलदार सहित शिक्षा विभाग के अधिकारी मौके पर पहुंचे और नवीन शाला भवन बनने तक वैकल्पिक व्यवस्था की बात कही थी परंतु न नवीन शाला भवन बना और न ही वैकल्पिक व्यवस्था हुई। पालकों ने बताया कि यहां 58 बच्चे अध्यनरत है।
वर्जन
दो साल से नवीन शाला भवन हेतु शासन को प्रस्ताव भेजा रहा है। फिलहाल समीप के आंगनबाड़ी केन्द्र में दो पालियों में वैकल्पिक व्यवस्था की जाएगी।
एस चंद्रसेन-डीईओ

Related articles

spot_img

Recent articles

spot_img