16.2 C
New York

देशभर में पेट्रोल-डीजल की किल्लत, जिले में भी दिखा असर
00 मुख्यालय के दो पेट्रोल पंप थे चार दिन पहले बंद

Published:

महासमुंद। देशभर में जारी पेट्रोल-डीजल की किल्लत का असर यहां जिले में भी देखने को मिल रहा है। शहर के तुमगांव रोड स्थित उत्तम फ्यूल्स और लभरा स्थित चंद्राकर पेट्रोल पंप में पेट्रोल-डीजल की सप्लाई न होने से पंप बंद थी, जो शुक्रवार को सप्लाई के बाद पुन: खुल गए हैं।
इधर, पंप संचालकों ने किल्लत की वजह डिपो में पर्याप्त मात्रा में आपूर्ति नहीं होना बताया। हालांकि स्थिति में थोड़ी सुधार होने के बाद सप्लाई फिर से शुरु हो गई है लेकिन निरंतर सप्लाई कब तक रहेगी यह संचालकों को भी नहीं पता। जानकारी के मुताबिक उत्तम फ्यूल्स बीते सोमवार से पेट्रोल-डीजल न होने से गुरुवार तक बंद था वहीं लभरा स्थित चंद्राकर पेट्रोल पंप बुधवार को बंद था। गुरुवार को यहां सप्लाई होने के बाद शुरु हो गया है। उत्तम फ्यूल्स के संचालक हर्ष चंद्राकर और चंद्राकर पंप के प्रबंधक संजय चंद्राकर ने बताया एचपीसीएल के पंपों में पेट्रोल-डीजल की किल्लत चल रही है वहीं इंडेन और बीपीसीएल के पंपों में किल्लत नहीं के बराबर है जिसके चलते इनके पंपों में बंद की स्थिति निर्मित नहीं हुई है।
अन्य पंपों में बढ़ गया था लोड
चंद्राकर और उत्तम फ्यूल्स में पेट्रोल-डीजल न होने से यहां पहुंचने वाले ग्राहकों को दूसरे पंपों की ओर रुख करना पड़ा था। इससे सबसे अधिक परेशानी किसानों को हुई जिन्हें डीजल के लिए अन्य पंपों की ओर दौड़ लगानी पड़ी थी। खरीफ फसल की खेती का कार्य शुरु होने के बाद डीजल की मांग बढ़ गई है जिससे उन्हें परेशानी का सामना करना पड़ रहा था।
एडवांस जमा होने के तीन दिन बाद हुई सप्लाई
हर्ष चंद्राकर ने बताया कि उन्होने पंप में खपत पूरी होने से पूर्व ही डिपो को सप्लाई के लिए एडवांस में राशि जमा करा दी थी। लेकिन राशि जमा होने के बाद भी उन्हें तीन दिन बाद सप्लाई की गई। डिपो से जब कारण पूछा गया तो ऊपर से पर्याप्त मात्रा में आपूर्ति न होना बताया गया। डिपो ने आगामी दिनों में भी ऐसी स्थिति निर्मित होने की संभावना जताई है। संजय चंद्राकर ने भी बताया कि डिपो से सप्लाई पूर्व की अपेक्षा थोड़ा विलंब से किया जा रहा है।

किल्लत की वजह पेट्रोल-डीजल की कीमत
बताया जाता है कि पेट्रोल-डीजल की किल्लत पूरे देशभर में चल रही है। इसकी वजह पेट्रोल-डीजल कीमत है। डिपो को जो सप्लाई की जा रही है उससे कंपनी को नुकसान हो रहा है इसलिए उन्होने पंपों की सप्लाई कम कर दी है। इसके चलते यहां जिले में ही नहीं अन्य जिलो में भी पपों में सप्ताह भर पूर्व ड्राई की स्थिति निर्मित हो गई थी।
वर्जन
12-13 पंपों में थी किल्लत, लोडिंग वजह
जिले में एचपी के कुल 40 पंप हैं जिसमें से करीब 12-13 पंपों में पिछले एक सप्ताह के भीतर ड्राई की स्थिति निर्मित हुई थी। ड्राई की वजह लोडिंग-अनलोडिंग है। क्योंकि रैक आने के बाद प्लेसमेंट में दिक्कत की वजह से लोडिंग नहीं हो पा रही थी, फिलहाल हालत सुधर गए हैं। रही बात रेट की तो ऐसी कोई बात नहीं है।
सुशांत गोयल
एरिया मैनेजर, एचपी महासमुंद

Related articles

spot_img

Recent articles

spot_img