13.1 C
New York

जेल में बंद बेटे को छुड़ाने भिख मांग रकम एकत्र कर रही मां की हत्या, दो गिरफ्तार

Published:

महासमुंद। जेल में बंद पुत्र को छुड़ाने के लिए गांव में भिक्षा मांग कर रुपए एकत्र कर मां के पास जमा रुपए को हड़पने के लिए दो युवकों ने मिलकर हत्या कर दी। हत्या करने वाला युवक कोई और नहीं रात में जिस झोपड़ीनुमा होटल में मृतका सोती उसके पुत्र ने अपने दोस्त के साथ मिलकर हत्या की थी।
मामले का खुलासा करते हुए एएसपी आकाश राव, एसडीओपी पाटले और बसना थाना प्रभारी कुमारी चंद्राकर ने बताया कि थाना क्षेत्र के ग्राम खेमड़ा खीरबाई राणा 43 ने थाने में शिकायत दर्ज कराई की गांव स्थित उनके झोपड़ीनुमा होटल पर इंदिरा कॉलोनी निवासी विशाखा भोई 77 वर्ष रात में सोती थी। दिन में घूम घूमकर भीख मांगती थी। 28 अगस्त 2022 को रात करीब 9 बजे खीरबाई के घर से हाॅटल में सोने गई थी। सुबह करीब 7 बजे देखे तो हाॅटल के अंदर पाटा के ऊपर मृत हालत में पड़ी थी किसी अज्ञात आरोपी ने उक्त गला दबाकर हत्या कर दिया है। उनकी लिखित रिपोर्ट पर थाना बसना में मर्ग कायम कर जांच में लिया गया। पुलिस अधीक्षक भोजराम पटेल ने थाना बसना व सायबर सेल की टीम एवं फाॅरेसिंक टीम रायपुर घटना स्थल पहुच कर बारिकी से जाॅच करने हेतु निर्देशित किया। गठित टीम ने छोटी-छोटी जानकारी एवं परिवार संबंधी, भूमि बटवारा संबंधी एवं मृतक के निजी जीवन के संबंध में जानकारी एकत्र किया। जाॅच दौरान पता चला कि खीरबाई का पुत्र सुशील राणा का काम बंद होने से आर्थिक रूप से परेशान था। मृतिका का पुत्र रोहित किसी प्रकरण में जेल बंद है जिसे छुडाने के लिए वह भीख मांग कर पैसा इकठ्ठा कर रही थी। इसके साथ कुष्टो यादव भी भीख मांगकर जीवन यापन करता है। सुशील राणा व कुष्टो यादव दोनो जान पहचान के है। पुलिस ने दोनो पर संदेह व्यक्त कर हिरासत में लेकर पूछताछ में अपराध करना कबूल किया। आरोपियों ने बताया कि विशाखा भोई के गले में एक छोटा कपडा का थैला लटका के रखती थी जिसमें भीख मांग मांग कर पैसा इकठ्ठा करती थी एवं गले में ही लटकाये रहती थी विशाखा भोई का लडका रोहित जेल में है जिसे छुडाने के लिये विशाखा भोई पैसा इक्कठ्ठा कर थी जिसे हम दोनो देखे भी थे करीब 5 हजार रुपए थैले में रखी हुई थी। घटना की रात पास मिलने का बात हुआ था रात्रि करीबन 11 बजे हाॅटल के पास खडे थे हाॅटल के अन्दर विशाखा भोई लकडी के पाटा के उपर सोई थी। पानी गिरने के वजह से रास्ता सुनसान था सुनसान देखकर हाॅटल में लगे पर्दानुमा खेट को हटाकर हम दोनो अन्दर प्रवेश कर विशाखा का सुशील राणा ने गमछा से गला दबाकर हत्या कर दी। हत्या के दौरान कुष्टो मृतिका के पैर को पकडा था। कपडे में बंधे रुपए को लेकर मोके से फरार हो गए और आपस में बाट लिया। रकम को घर में छुपाकर रखना स्वीकार किया। आरोपियों से रकम 5000 जब्त कर धारा 302 के तहत् गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। यह सम्पूर्ण कार्रवाई पुलिस अधीक्षक भोजराम पटेल के मार्गदर्शन में एएसपी आकाश राव एवं एसडीओपी सरायपाली विकास पाटले के निर्देशन मे थाना प्रभारी बसना निरीक्षक कुमारी चन्द्राकर सउनि विजय मिश्रा, आर सूरज निराला, किशोर साहू, नरेश बरिहा, कौशल ध्रुव, खगेश ध्रुव शामिल रहे।

Related articles

spot_img

Recent articles

spot_img