13.1 C
New York

गुरू बालकदास ने समाज को संगठित किया-अमर

Published:


*तेंदुवाही में गुरू बालकदास जयंती में शामिल हुए जिपं सभापति*
महासमुंद। ग्राम तेंदुवाही में सतनामी समाज युवा संगठन द्वारा गुरू बालकदास की जयंती का आयोजन किया गया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि जिला पंचायत सभापति अमर अरूण चंद्राकर थे। ने बाबा घासीदास की पूजा-अर्चना कर गुरू बालक दास के छायाचित्र पर पुष्प अर्पित कर समाज की खुशहाली के लिए प्रार्थना की। कार्यक्रम संबोधित करते हुए अमर अरूण चंद्राकर ने कहा कि शौर्य के प्रतीक बलिदानी राजा गुरु बालक दास का जीवन बहुत ही संघर्ष पूर्ण रहा है। उन्होंने समाज को न केवल संगठित किया, बल्कि समाज में फैली हुई विभिन्न कुरीतियों के विरूद्ध शंखनाद किया। उनके इन्हीं शौर्य के कारण तत्कालीन अंग्रेज शासन के अधिकारियों ने गुरु बालकदास को राजा की पदवी से नवाजा था। उन्होंने कहा कि हम सभी को परम पूज्य संत शिरोमणि बाबा गुरु घासीदास के बताए मार्ग में चलना चाहिए। सभी समाज के लोगों को उनके बताए मार्ग पर चलने से समाज और लोगों का उत्थान होगा। उन्होंने समस्त सतजनों को समाज को संगठित और मजबूत करने की बात कही। इस अवसर पर जीवन लाल साहू सरपंच, सुशील बघेल भीम आर्मी जिला उपाध्यक्ष, योगेश मारकंडे भीम आमी उपाध्यक्ष ग्रामीण, रंजीत बघेल, गौतम बंजारे, नथमल, रवि बघेल, खोरबाहरा, सुकचंद, बुधुराम, रामदयाल, क्रांति, योगी, महेंद्र बांधे, समारू कोसले, डेरहु साहू, गोवर्धन, नवयुवक गोकुल बंजारे, गौतम जांगड़े, जितेंद्र, राजा, करण, सुरज, हेमसागर, मंगतू, कल्याण, सूर्यप्रकाश, गौकरण, अखिलेश, कैलाश, ऋषभ, देवेंद्र, दिनेश बारले, राजा मारकंडे व ग्रामीण जन बड़ी संख्या में उपस्थित रहे।

Related articles

spot_img

Recent articles

spot_img