16.2 C
New York

किसानों की आय दोगुनी कब होगी?समर्थन मूल्य में मामूली वृद्धि पर सवाल-भूपेन्द्र

Published:

महासमुंद। केंद्र सरकार द्वारा 17 फसलों के समर्थन मूल्य में मामूली बढ़ोतरी को आम आदमी पार्टी ने किसानों के साथ धोखा और छल कहा है। आम आदमी पार्टी के जिलाध्यक्ष भूपेन्द्र चन्द्राकर ने कहा कि 2022 तक किसानों की आय दोगुनी करने का वादा कैसे पूरा होगा।कांग्रेस और भाजपा ने किसानों से स्वामीनाथन कमेटी की सिफारिश के तहत लागत मूल्य का डेढ़ गुना देने का वादा किया था। आज लागत मूल्य निकल कर देखिए क्या सरकारें लागत मूल्य का डेढ़ गुना मूल्य किसानों को दे रही है ? सिर्फ किसान हितैषी बन थोड़ा सा समर्थन मूल्य बढ़ाकर वाहवाही लूटकर आपस में पीठ थपथपा कर राजनीति कर रही है। प्रदेश के किसान भाई आज ठगा सा महसूस कर रहे है। कांग्रेस की राज्य सरकार ने खरीफ 2022 के लिए राज्य में एमएसपी 2700 रुपए प्रति क्विंटल प्रस्तावित किया था. केन्द्र ने छ ग के प्रस्ताव से 660 एवं 640 रुपए कम निर्धारित किया है। इसी तरह मक्का के लिए भी छत्तीसगढ़ के प्रस्ताव से कम एमएसपी निर्धारित की है। भाजपा और कांग्रेस दोनों ही बताए कि एमएसपी में सौ रुपए वृद्धि से आय कैसे दोगुनी होगी। कांग्रेस और भाजपा किसानों से छल करना बंद करे ।भाजपा की मोदी सरकार डीजल में मनमाना टैक्स लगाकर वसूली कर रही है।खाद, कीटनाशक दवाओं में बढ़ोतरी, कृषि यंत्रों में 28 फीसदी टैक्स लिया जा रहा है और प्रदेश सरकार खाद की mअनुपलब्धता बताकर सिर्फ मिलावटी कंपोज खाद किसानों पर थोप रही है और ना लेने पर ऋण न देने की बात कहकर मजबूर कर रही है। इस तरह केन्द्र सरकार किसानों को उचित मूल्य न देकर उपज खरीदी से बचना चाहती है और कांग्रेस राज्य सरकार किस्तों में पैसे देकर और खाद आदि वस्तुओं की जबरवारी कर किसानों को सिर्फ परेशान कर रही है।

Related articles

spot_img

Recent articles

spot_img