16.2 C
New York

कांग्रेस के जनघोषणा पत्र के हर वादे को गंगाजल से जोड़ “गंगाजल” का अपमान कर रही भाजपा: रश्मि

Published:

किसानों के कर्ज माफी और भाजपा के झूठ और धोखेबाजी वाले चरित्र के कारण खानी पड़ी



महासमुंद। कांग्रेस जिला अध्यक्ष डॉ रश्मि चंद्राकर ने कि यह छत्तीसगढ़ का हर नागरिक जानता है कांग्रेस ने किसानों का कर्जा माफ करने के लिए गंगा जल की कसम खाई थी और राज्य में कांग्रेस की सरकार बनने के बाद मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कांग्रेस नेताओं के इस कसम का मान रखने के लिए मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने के मात्र तीन घण्टे के अंदर राज्य के 19 लाख किसानों का कर्ज माफ कर दिया था। कर्ज माफी के लिए कांग्रेस नेताओं को गंगा जल उठा कर कसम खाने की नौबत भी भाजपा के धोखेबाजी वाले चरित्र के कारण आई थी।
भाजपा के झूठ को नष्ट करने ली थी कसम
भाजपा की तत्कालीन रमन सरकार और भाजपा आईटी सेल ने कांग्रेस मुख्यालय के नाम का एक फर्जी पत्र जन सामान्य में प्रचारित किया था जिसमे कांग्रेस के कर्जमाफी के वायदे पर जोर नही देने की बात का उल्लेख था। भाजपा के इस झूठ को नष्ट करने कांग्रेस नेताओं ने प्रेस कांफ्रेंस लेकर मीडिया कर्मियों के समक्ष कर्ज माफी के वायदे के लिए गंगा जल की कसम उठाई थी । कांग्रेस के जिला अध्यक्ष डॉ रश्मि चंद्राकर ने कहा कि रमन सिंह सहित भाजपा के नेता कांग्रेस के जन घोषणा पत्र के हर वायदे को गंगा जल की कसम से जोड़ कर गंगा जल का अपमान करते है। यह भाजपा के अधर्मी और झूठे चरित्र को दर्शाता है। अपनी राजनीति करने के लिए भाजपाई बार-बार गंगा जल की झूठी कसम का हवाला देते हैं।
सरकार ने किये वादे पुरे
आगे डॉ रश्मि ने कहा कि कांग्रेस जन घोषणा पत्र कांग्रेस का जनता से किया गया पवित्र दस्तावेज है। उसके एक-एक वायदे को पूरा करने के लिए ईमानदार प्रयास करने के लिए कांग्रेस की सरकार प्रतिबद्ध है। कांग्रेस ने आधे ज्यादा वादे को पूरा कर लिया है बचे हुए वायदों को पूरा करने के लिए ठोस प्रयास और कार्य योजनाएं तैयार की जा चुकी है। रमन सिंह कांग्रेस के जन घोषणा पत्र के वायदों का हिसाब मांगने के पहले अपने गिरेबान में झांके, उन्होंने तो 2003 के भाजपा के संकल्प पत्र के वायदों को तीन बार 15 सालों तक सरकार चलाने के बाद भी पूरा नहीं किया था। राज्य की जनता भूली नहीं है 2003 में हर आदिवासी को 10 ली. दूध देने वाली जर्सी गाय देने का वायदा, हर आदिवासी परिवार से एक को सरकारी नौकरी का वायदा, हर बेरोजगार को 500 भत्ता देने के वायदों का क्या हश्र हुआ। 2100 में धान खरीदी 300 बोनस के वायदों से मुकरने वाले कांग्रेस को वायदा  पूरा करना न सिखाये। रमन सिंह बेफिक्र रहे कांग्रेस ने वायदा किया है तो उसे निभाएगी भी भाजपा के समान झूठा वायदा करना कांग्रेस की फितरत नहीं। कांग्रेस के घोषणा पत्र के सभी वायदों को गंगा जल की शपथ से जोड़ कर रमन सिंह और भाजपा गंगाजल का न सिर्फ अपमान कर रहे गंगा जल की महत्ता का मखौल भी उड़ा रहे है। कांग्रेस ने अपने घोषणा पत्र में किसानों का धान 2500 में खरीदने का वायदा किया था जिसे छत्तीसगढ़ के किसानों ने शाश्वत सत्य माना था ।कांग्रेस और मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने भी किसानों से किये वायदे को पूरी निष्ठा से निभाया है ।सन 2018 में किसानों के धान की खरीदी 2500 में की गई ।सन 2019 में भाजपा और उसके केंद्र सरकार के तमाम अड़ंगे बाजी के बावजूद किसानों के धान की खरीदी 2500 में करने के वायदे को पूरा करने राजीव गांधी किसान न्याय योजना लागू किया गया ।न्याय योजना के माध्यम से किसानों को धान के अंतर राशि का भुगतान किया जा रहा है ।जिसका लाभ रमन सिंह उनके पुत्रअभिषेक सिंह सहित सैकड़ों भाजपा नेताओं को भी मिला है।
डॉ रश्मि  ने कहा कि रमन सिंह जब दो वर्ष के बकाया बोनस देने की मांग कांग्रेस सरकार से करते है तब यह भी स्पष्ट कर दिया करें कि वे कौन से दो वर्ष के बकाया बोनस की देने की मांग कर रहे है ? यह बताने का भी साहस दिखाए की किसानों का यह बकाया बोनस रमन सिंह और भाजपा के कार्य काल का है जो किसानों से वायदा कर के वोट हासिल कर के तीन बार सरकार चलाने के बावजूद उन्होंने नही दिया था।कांग्रेस ने पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह को चुनौती दी है कि वे गंगा जल की कसम खा कर कहे कि कांग्रेस ने धान की कीमत और बोनस के लिए गंगा जल की शपथ लिया था । रमन सिंह सहित छत्तीसगढ़ भाजपा नेता गंगा जल का नाम ले कर बार बार गलत बयानी कर रहे हैं। कांग्रेस ने सिर्फ किसानों की कर्ज माफी के लिए गंगा जल को हाथ मे ले कर प्रेस के सामने प्रतिज्ञा किया था।इसकी भी जरूरत इस लिए पड़ी थी क्यो की कांग्रेस के कर्ज माफी के वायदे पर भाजपा ने झूठा भ्रम फैलाया था।

Related articles

spot_img

Recent articles

spot_img