16.2 C
New York

इस जिले के 74 हजार किसान हुए 354 करोड़ रुपए के कर्जदार ! जानिए क्या है इसकी वजह

Published:

महासमुंद। जिले के करीब 74 हजार किसानों को खरीफ फसल के लिए अब तक 354 करोड़ रुपए ऋण वितरण किया जा चुका है। इधर, फसलों में धान की बालियां निकलने और कीट प्रकोप शुरु होने के बाद किसान खेतों में व्यस्त है।
जिला सहकारी बैंक के अनुसार जिले में इस बार खरीफ वर्ष मेें ऋण वितरण के लिए कुल 430 करोड़ का लक्ष्य रखा गया है जिसमें 2 सितंबर तक बैंक से 12 शाखाओं के अंतर्गत संचालित समितियों के माध्यम से जिले के कुल 74720 किसानों ने 354 करोड़ 54 लाख 36 हजार रुपए का ऋण ले लिया है। इसमें किसानों को बैंक ने नकद के साथ खाद, बीज, दवाई और वर्मी कम्पोस्ट खाद ऋण के रुप में दिया है। इसमेें सर्वाधिक ऋण कोमाखान शाखा से कुल 11286 किसानों और सबसे कम पिरदा शाखा से मात्र 3126 किसानों ने ऋण लिया है। ज्ञात हो कि खरीफ के लिए ऋण वितरण जून माह से प्रारंभ हुआ है जिसमें जुलाई-अगस्त माह में सर्वाधिक किसान समितियों में ऋण लेने पहुंचे हैं।  
कहां कितने किसानों ने लिया ऋण
जिले के 12 शाखाओं में से महासमुंद में 6257, तुमगांव 3258, झलप 4139, बागबाहरा 5547, कोमाखान 11286, तेन्दूकोना 5227, तेन्दूकोना 5227, पिथौरा 5008, सांकरा 3602, पिरदा 3126, बसना 7228, भंवरपुर 6722, सरायपाली 7532 और तोरेसिंहा शाखा के समितियों के माध्यम से 5788 किसानों ने ऋण लिया है। इसमें किसानों को 277 करोड़ 68 लाख 31 हजार नकद, 63 करोड़ 30 लाख 6 हजार रुपए खाद, 7 करोड़ 46 लाख 48 हजार रुपए बीज 1 करोड़ 32 लाख 16 हजार रुपए दवाई और 4 करोड़ 77 लाख 36 हजार रुपए वर्मी कम्पोस्ट के रुप में दिया गया है।
धान खरीदी से वसूली जाएगी ऋण की राशि

खरीफ सीजन में किसानों से शासन द्वारा की जाने वाली धान खरीदी से किसानों को वितरित की गई ऋण की राशि वसूल की जाएगी। इसके लिए किसानों का खाता बैंक से लिंक है जिसमें किसानों के खाते में धान बिक्री की रकम आने के साथ ही ऋण की राशि उनके खातों से कटने लगी इसके लिए न बैंक को किसानों के पास जाना पड़ेगा और न ही किसानों को ऋण भुगतान के लिए बैंक आना पड़ेगा। इस सुविधा से लगभग हर वर्ष जिला सहकारी बैंक वितरित ऋण में 99 फीसदी वसूली कर लेता है।  

सरपंच को महिला ने जड़ा थप्पड़
महासमुंद। चबूतरा तोडऩे की बात पर एक महिला और सरपंच के बीच विवाद हो गया। आक्रोशित महिला ने सरपंच को थप्पड़ जड़ दिया। घटना पटेवा थाना क्षेत्र के ग्राम रामडबरी की है। सरपंच शत्रुघन चेलक (42) ने पुलिस को बताया कि गांव में स्थित चबूतरे को तुड़वा रहा था। इसी दौरान गांव की जामबाई बारले पहुुंची और चबूतरा क्यों तोड़वा रहे हो कहते हुए उनके साथ गाली-गलौज करते हुए थप्पड़ जड़ दी। पुलिस ने उनकी शिकायत पर आरोपी महिला के खिलाफ धारा 294, 323 के तहत जुर्म दर्ज कर जांच में लिया है।

Related articles

spot_img

Recent articles

spot_img