16.2 C
New York

आदेश बाद भी नहीं हटी स्टैंड से खटारा बसें, अव्यवस्था से परेशान

Published:

महासमुंद। बस स्टैंड को व्यवस्थित करने पालिका ने कई बार आदेश-निर्देश जारी किया है लेकिन इसका पालन अब तक नहीं हुआ है जिसका खमियाजा यात्रियों को उठाना पड़ रहा है। स्टैंड में खड़ी खटारा बसों की वजह से जहां यात्रियों को सुलभ शौचालय नजर नहीं आता वहीं आटो और फल ठेलों की वजह से बस तक पहुुंचने में दिक्कतों का सामना करना पड़ता है।
ज्ञात हो कि पालिका प्रशासन ने बस स्टैंड को सुव्यवस्थित करने पिछले तीन सालों के भीतर 3-4 बार स्टैंड के कारोबारियों और बस संचालकों की बैठक ली है। बैठक के दौरान स्टैंड में खड़ी खटारा बसों को हटाने और कारोबारियों से स्टैंड परिसर को व्यवस्थित रखने की अपील की है। पर इसका पालन न तो बस संचालक कर रहे हैं ना ही कारोबारी। जिससे यात्रियों को परेशानी हो रही है। शनिवार को स्टैंड का जायजा लिया गया तो सुलभ शौचालय के समक्ष खटारा बसें खड़ी हुई मिली जिससे सुलभ शौचालय नजर नहीं आ रहा था। इधर, स्टैंड परिसर के मध्य फल ठेले नजर आए जिससे यात्रियों के साथ बस चालकों को भी बसें निकालने में दिक्कत होती है।
आटो स्टैंड में खड़ी रहती हैं बाइकें
बस स्टैंड परिसर में आटो को व्यवस्थित खड़ी करने आटो स्टैंड का भी निर्माण कराया गया है। पर उक्त स्टैंड में आटो की जगह बाइक-साइकिल खड़ी रहती है। आटो चालक भी स्टैंड की बजाए बसों के आसपास अपनी आटो खड़ी करते हैं जिससे बसें निकालने और यात्रियों को बैठने में दिक्कत होती है।
सुअर व मवेशी फैला रहे गंदगी
इधर, स्टैंड में घूमते सुअर और लावारिश मवेशियों की वजह से पसरी गंदगी से स्टैंड की सफाई व्यवस्था पर सवाल उठ रहे हैं। पालिकाकर्मी रात में सफाई कर चले जाते हंै लेकिन सुबह मवेशियों के परिसर में यहां-वहां मल त्याग करने से गंदगी पसर जाती है और बदबू से यात्रियों को परेशान होना पड़ता है। पालिका इस मामले में बिलकुल भी गंभीर नजर नहीं आ रही है।
वर्जन
पालिकाकर्मियों के आंदोलन से लौटते ही सोमवार को बैठक लेकर बस स्टैंड को व्यवस्थित करने की कार्ययोजना बनाई जाएगी।
-कृष्णकुमार चंद्राकर, कार्यकारी नपाध्यक्ष

Related articles

spot_img

Recent articles

spot_img