16.2 C
New York

अस्पताल में उपचार के लिए भर्ती दुष्कर्म का आरोपी विचाराधीन बंदी प्रहरी को चकमा दे हुआ फरार, प्रहरी निलंबित

Published:


महासमुंद। अस्पताल में उपचार के लिए भर्ती कराया गया विचाराधीन बंदी प्रहरी को चकमा देकर फरार हो गया। जेल अधीक्षक ने मामले में प्रहरी को निलंबित कर कोतवाली पुलिस को फरार बंदी के खिलाफ जुर्म दर्ज करने के लिए पत्र जारी किया है। जानकारी के अनुसार सरायपाली थाना के ग्राम चारभांठा निवासी यादराम ठाकुर (25) सरायपाली थाने में दर्ज प्रकरण क्रमांक 23/2020 में दुष्कर्म के मामले में धारा 363, 366, 376 और पास्को एक्ट 06 के तहत 23 जनवरी 2020 को जेल में बंद किया गया था। बुधवार 14 सितंबर को सरायपाली पेशी पर भेजा गया थ जहां पेशी के दौरान स्वास्थ्य खराब होने से सरायपाली अस्पताल में भर्ती कराया गया था जिसे उचित उपचार के लिए यंहा मुख्यालय स्थित मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया था। जहां उपचार और पेशी पश्चात उसे जेल दाखिल कराया गया था। गुरुवार रात उसकी तबियत खराब होने पर उसे पुनः उपचार के लिए जिला अस्पताल(मेडिकल कॉलेज) में जेल गार्ड की सुरक्षा में भेजा गया था। उपचार के दौरान देर रात प्रहरी को चकमा देकर बंदी यादराम ठाकुर अस्पताल से फरार हो गया। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार मामले जेल अधीक्षक मुकेश कुशवाहा ने बंदी की सुरक्षा में तैनात प्रहरी अमलदास तिर्की को निलंबित कर दिया है।

Related articles

spot_img

Recent articles

spot_img