13.1 C
New York

अब मतदाता परिचय पत्र आधार कार्ड से होगा लिंक, आज से सूची के डाटा में जोड़ने की प्रक्रिया शुरू

Published:


महासमुंद। कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी निलेशकुमार क्षीरसागर ने गुरुवार को कलेक्ट्रेट के सभाकक्ष में राजनीतिक दलों के जिला पदाधिकारियों और इलेक्ट्रॉनिक एवं प्रिंट मीडिया के संवाददाताओं के साथ बैठक में जानकारी देते हुए बताया कि भारत निर्वाचन आयोग द्वारा निर्वाचकों की पहचान स्थापित करने एवं मतदाता सूची में दर्ज प्रविष्टियों के प्रमाणीकरण के लिए मतदाताओं से आधार डाटा संग्रह कर मतदाता सूची के डाटा में जोड़ने की प्रक्रिया 01 अगस्त 2022 से शुरू हो गई है। उन्होंने बताया कि कार्यक्रम का उद्देश्य मतदाताओं के आधार संग्रह कर निर्वाचकों की पहचान स्थापित करना और मतदाता सूची में प्रविष्टियों का प्रमाणीकरण और एक से अधिक बार पंजीबद्ध व्यक्तियों के नाम की पहचान करना है। उन्होंने स्पष्ट किया कि आधार संख्या एकत्रित करना मतदाताओं की ओर से स्वैच्छिक है। कलेक्टर ने कहा कि आधार हेतु फॉर्म आयोग के वेबसाइट पर उपलब्ध है। श्री क्षीरसागर ने राजनीतिक दलों और मीडिया से अपील की कि इसका ज्यादा से ज्यादा प्रचार-प्रसार करें ताकि लोग जागरूक हो। उन्होंने बताया कि बूथ लेवल अधिकारी द्वारा घर-घर सर्वे कर प्रपत्र-6 ख के माध्यम से आधार नम्बर एवं एपिक नम्बर जानकारी एकत्रित की जाएगी। मतदाता द्वारा आधार नम्बर जमा करने के लिए प्रपत्र-6 ख, एनएसव्हीपी वोटर हेल्पलाइन एप्प आदि का प्रयोग कर सकते है। बैठक में राजनीतिक दलों द्वारा बताया गया कि महासमुंद की बूथ क्रमांक 23 और 24 में कुछ ऐसे परिवारों के मतदाता है। जिनकी कुछ मतदाताओं का नाम 23 और 24 में है। इस त्रुटि को दूर कर एक ही बूथ में मतदाता बनाने का सुझाव आया। कलेक्टर ने ऐसे त्रुटियां या इस प्रकार की त्रुटियों को विशेष शिविर लगाकर दूर करने के निर्देश उक्त जिला निर्वाचन अधिकारी को दिए। उन्होंने इस प्रकार के और भी त्रुटियों को जानकारी में लाने की बात कही।
संयुक्त कलेक्टर एवं उप जिला निवार्चन अधिकारी श्री दुर्गेश वर्मा ने मतदाता पोर्टल एप्प, प्रपत्र-6 बी जमा करना, गरूड़ एप्प के उपयोग आदि के संबंध में विस्तार से कम्प्यूटर आधारित प्रस्तुतीकरण दिया। श्री वर्मा ने आयोग द्वारा फोटोयुक्त निर्वाचन, नामावलियों का विशेष संक्षिप्त पुनरीक्षण कार्यक्रम की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि मतदान केन्द्रों में युक्तियुक्तकरण, निर्वाचन नामावलियों में प्रतिस्थापित करना, मतदान केन्द्रों पनुर्गठन आदि त्रुटि के लिए विशेष प्रशिक्षण शिविर 24 अक्टूबर 2022 तक चलेगा। एकीकृत मतदाता परिचय सूची की जानकारी देते हुए बताया कि प्रारम्भिक प्रकाशन 9 नवम्बर 2022 को होगा। उन्होंने दावा-आपत्ति अवधि के बारे में बताया कि संबंधित दावा-आपत्ति 8 दिसम्बर 2022 है। मतदाता सूची का अंतिम प्रकाशन की तिथि 5 जनवरी 2023 है। उन्होंने बताया कि ऐसे आवेदक जो 1 जनवरी के पश्चात की अर्हता तिथियों अर्थात 1 अप्रैल, 1 जुलाई और 1 अक्टूबर के संदर्भ में पंजीकरण के लिए पात्र हो रहे है। वे अपने दावे प्रारूप 6 में अग्रिम रूप से जमा कर सकते है।

Related articles

spot_img

Recent articles

spot_img